पंजाब-चंडीगढ़ पुलिस ने मिलकर दबोचा गीतकार परमेश वर्मा का हमलावर दिलप्रीत सिंह

1196
दिलप्रीत सिंह
गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह (फाइल फोटो)

लाके तिन्न पग बलिये, पैँदै भंगडे गड्डी दी डिक्की खोल के….गाने से पंजाबी गीत संगीत की दुनिया में छाये गीतकार परमेश वर्मा को गोली मारने वाले पंजाब के गैंगस्टर को पंजाब और चंडीगढ़ की पुलिस के ज्वाइंट आपरेशन के दौरान आज गिरफ्तार कर लिया गया.

क्राइम ब्रांच के प्रभारी अधिकारी अमनजोत सिंह के नेतृत्व में ये गिरफ्तारी चंडीगढ़ में सेक्टर 43 में अंतर्राज्यीय बस अड्डे के पास एकदम फ़िल्मी स्टाइल में हुई. दिलप्रीत सिंह पर मशहूर पंजाबी गायक गिप्पी ग्रेवाल को भी धमकाने का केस है.
पुलिस की इस कार्रवाई को इतनी बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है कि खुद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इसके लिए पीठ थपथपाई और शाबाशी का संदेश ट्वीट किया है.

परमेश वर्मा
गीतकार परमेश वर्मा की फाइल फोटो

असल में दिलप्रीत के बारे में पुलिस को जानकारी मिली जो कार में था. पुलिस ने पीछा करते करते उसे रोकने के लिए कार में टक्कर मारी. इस दौरान दिलप्रीत ने बचकर फरार होने के इरादे ने पुलिस पर गोली दागी, जवाब में पुलिस ने भी गोली चलाई जो दिलप्रीत को लगी. घायल दिलप्रीत की पिस्तौल भी बरामद हो गयी. पुलिस ने उसे चंडीगढ़ के पीजीआई मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया है.

ख़ास बात ये है कि अप्रैल में परमीश वर्मा पर हमले के बाद खुद इसकी ज़िम्मेदारी लेते हुए दिलप्रीत सिंह ने फेसबुक पर संदेश डाला था और इसके साथ ही अपनी फोटो भी डाली थी जिसमें वो पिस्तौल लिए हुए था. अपनी पोस्ट पर उसने परमेश की फोटो भी पोस्ट की थी जिस पर क्रास का निशान भी लगा था. उस पर चंडीगढ़ के सेक्टर 38 के एक सरपंच को गोली मरने का भी आरोप है.