शेर-ए-कश्मीर पुलिस अकादमी में शानदार पासिंग आउट परेड का आयोजन

456
Informative Image
जम्मू कश्मीर पुलिस अकादमी की पासिंग आउट परेड में राज्यपाल के सलाहकार केके शर्मा और के. विजय कुमार मुख्य अतिथि रहे. दाएं हैं पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह. 

जम्मू कश्मीर के उधमपुर में शेर-ए-कश्मीर पुलिस अकादमी का मैदान मंगलवार को शानदार पासिंग आउट परेड का गवाह बना. जम्मू कश्मीर पुलिस का हिस्सा बने इस पुलिसकर्मियों में उपाधीक्षकों (डीएसपी-DSP) का 12वां बैच जबकि उपनिरीक्षकों (सब इंस्पेक्टर-SI) और सहायक उपनिरीक्षकों (असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर-ASI ) का 22 वां बैच था. इनके साथ साथ इस पासिंग आउट परेड में वे महिला सिपाही भी थीं जिन्होंने कमांडो ट्रेनिंग पूरी की. ये बीआरटीसी का 7 वां बैच (2018-19) था.

Informative Image
जम्मू कश्मीर पुलिस अकादमी की पासिंग आउट परेड
Informative Image
जम्मू कश्मीर पुलिस अकादमी की पासिंग आउट परेड में राज्यपाल के सलाहकार केके शर्मा , के. विजय कुमार मुख्य अतिथि रहे. दाएं हैं पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह. 

इस अवसर पर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल के सलाहकार और पूर्व आईपीएस अधिकारी के. विजय कुमार ने परेड की सलामी ली, निरीक्षण किया और प्रशिक्षुओं को शपथ दिलाकर पुलिस बल का हिस्सा बनाया. के. विजय कुमार खुद भी भारतीय पुलिस सेवा के लोकप्रिय अधिकारी रहे हैं.

सख्त प्रशिक्षण में कामयाबी के लिए, जम्मू कश्मीर पुलिस परिवार के इन नये सदस्यों को, उन्होंने बधाई दी. रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी के. विजय कुमार ने पुलिस के पेशेवराना अंदाज़ की तारीफ की. साथ ही के. विजय कुमार ने शेर-ए-कश्मीर पुलिस अकादमी के निदेशक मोहम्मद सुलेमान सलारिया और उनकी टीम की तारीफ़ भी की जिनके नेतृत्व और मेहनत से प्रशिक्षुओं को गढ़ा गया.

इसी अवसर पर मौजूद राज्यपाल के सलाहकार के के शर्मा ने पुलिस परिवार में शामिल हुए इन सदस्यों को बधाई दी और उनसे कहा कि ड्यूटी के दौरान लोगों के साथ दोस्ताना रवैया अपनाये. साथ ही उन्होंने पुलिसकर्मियों वहां मौजूद उनके परिवार वालों को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल प्रशासन की कल्याणकारी योजनाओं का ज़िक्र किया.

उधमपुर में शेर-ए-कश्मीर पुलिस अकादमी ग्राउंड में हुई इस परेड व शपथ ग्रहण के मौके पर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह, जम्मू के डिविज़नल कमिश्नर संजीव वर्मा तो थे ही, अकादमी के निदेशक मोहम्मद सुलेमान सलारिया और राज्य पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारी भी थे. इनके साथ साथ सेना, सीआरपीएफ, वायु सेना, स्थानीय प्रशासन के अधिकारी और पूर्व विधायक भी इस अवसर पर मौजूद दिखाई दिए.