केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए सीआरपीएफ के परिवार भी आगे आये

793
CRPF family welfare association
20 टन राहत सामग्री से भरे ट्रक सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन की जम्मू कश्मीर ज़ोन ने जम्मू से रवाना किये. Source/CRPF

भारत के सबसे बड़े अर्द्धसैन्य बल केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ-CRPF) के अधिकारी और जवान जब बाढ़ की चपेट में आये केरल राज्य के बाशिंदों की जान माल की हिफाजत में जुटे थे तब सैकड़ों मील दूर उनके परिवार वालों ने भी बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए काम शुरू कर दिया. सीआरपीएफ परिवारों ने बाढ़ पीड़ितों के लिए खाने पीने से लेकर पहनने ओढ़ने और दवाओं जैसा वे तमाम सामान जमा करके भेजना शुरू किया जो घरों से महरूम हो गये केरलवासियों के जीने के लिए फिलहाल ज़रूरी है. ऐसी 20 टन राहत सामग्री से भरे ट्रक सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन की जम्मू कश्मीर ज़ोन ने जम्मू से रवाना किये. ये सामान हवाई और रेलमार्ग से केरल तक पहुंचाया जायेगा.

राहत सामग्री से लदे ट्रक के काफिले को सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष डा. मनु भटनागर ने जम्मू के बनतालाब स्थित सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर से रवाना किया. इस सामान को जमा करने में सीआरपीएफ की जम्मू, श्रीनगर, कश्मीर और उत्तर पश्चिम (चंडीगढ़) सेक्टर की इकाइयों ने भूमिका निभाई. सबसे दिलचस्प वो एक बैनर भी था जो काफिले में ट्रक के आगे टंगा था. इस पर छपा वाक्य था ‘from HEAVEN ON EARTH to GOD’s OWN COUNTRY’. जम्मू कश्मीर के लिए धरती के स्वर्ग का इस्तेमाल करते हुए लिखा ये वाक्य कहता है-धरती के स्वर्ग से ईश्वर के अपने देश के लिए.

CRPF family welfare association
20 टन राहत सामग्री से भरे इस ट्रक को सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन ने जम्मू से रवाना किया. Source/CRPF

सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष डा. मनु भटनागर ने बताया कि उन्होंने अपनी संस्था की देश में सभी इकाइयों से कहा है कि केरल के बाढ़पीड़ितों की मदद के लिए आगे आयें और इस तरह की सामग्री इकट्ठा करके उन्हें भिजवाएं. उन्होंने संस्था के ध्येय वाक्य ‘ सार्थक, सहयोग, सर्वदा’ के प्रति सीआरपीएफ परिवारों का संकल्प दोहराया.

इस अवसर पर सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन की जम्मू कश्मीर ज़ोन की प्रमुख स्मिता सिद्धू, उपाध्यक्ष श्रीमती अनीता, संस्था के जम्मू सेक्टर की प्रमुख शिवानी चौहान, सीआरपीएफ के अधिकारी, जवान और उनके परिवारों के सदस्य भी मौजूद थे.

जब केरल में बाढ़ पीड़ितों को वर्दी में मिल गये ‘भगवान’