मिलिटरी लिटरेचर फेस्टिवल इस बार और निखरेगा

20
पंजाब के मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) टीएस शेरगिल और सेना की पश्चिम कमांड के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल गुरपाल सिंह.

सिटी ब्यूटीफुल चण्डीगढ़ में 13 दिसम्बर से शुरू होने वाला तीन दिवसीय मिलिटरी लिटरेचर फेस्टिवल इस बार और निखरे रूप के साथ दिखाई देने की उम्मीद की जा रही है. पंजाब सरकार और भारतीय सेना की पश्चिम कमांड के संयुक्त प्रयास से शुरू किये गये इस आयोजन के तीसरे संस्करण का उद्घाटन इस बार भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह करेंगे. इसका ऐलान शनिवार को मिलिटरी लिटरेचर फेस्टिवल के आयोजकों की तरफ से किया गया.

आयोजन के कार्यक्रम का ऐलान करते वक्त पंजाब के मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) टीएस शेरगिल और सेना की पश्चिम कमांड के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल गुरपाल सिंह मौजूद थे. पराक्रम, देशभक्ति, कुर्बानी के जज़्बे के साथ साथ सेना और देश की सुरक्षा से जुड़े विभिन्न पहलुओं को छूने वाले इस सैन्य उत्सव में इस बार सेना और सुरक्षा मामलों पर लिखी गई विभिन्न लेखकों की 10 पुस्तकों का विमोचन भी होगा.

जहां पिछली बार सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर चर्चा हुई थी इस बार बालाकोट स्ट्राइक और कश्मीर में धारा 370 हटाने जैसे मुद्दों पर चर्चा होना लाज़मी है. कई वरिष्ठ सैनिक अधिकारियों और रिटायर्ड अधिकारियों के साथ साथ इस बार भी पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वी पी मलिक मौजूद रहेंगे. देश के अलग अलग हिस्सों के खानपान के स्टाल से भरा फ़ूड कोर्ट और मार्शल डांस फॉर्म भी पहले की तरह इस उत्सव का हिस्सा होंगे. पिछली दफा भारतीय वायु सेना की तरफ से सूचना केंद्र स्थापित किया गया था और वायु सेना भर्ती या रुचि लेने वाले छात्रों ने उसमें दिलचस्पी भी दिखाई थी.

लेफ्टिनेंट जनरल शेरगिल ने बताया कि इस बार आर्मी की तरफ से सूचना केंद्र स्थापित किया जाएगा. सेना के बारे में जानकारी और उसमें भर्ती, कैरियर, परीक्षा आदि जानकारी पाने के इच्छुक युवा यहाँ से सम्पर्क करके सम्बन्धित जानकारियाँ हासिल कर सकते हैं. पिछले दो साल में जिन तारीखों पर ये आयोजन हुआ, इस बार उन तारीखों से सप्ताह भर बाद ये आयोजन हो रहा है. पिछली बार तकरीबन 50 हज़ार लोग इस फेस्टिवल को देखने आये थे और ये तादाद इस बार बढ़ने के आसार हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here