पाकिस्तान सेना में बड़ा फेरबदल, नदीम अंजुम आईएसआई के नये चीफ

16
आईएसआई
लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद (बाएं) और आईएसआई का नया डायरेक्टर जनरल जनरल नदीम अंजुम

अफगानिस्तान के बदले हालात के बीच उसके पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने अपनी सेना में शीर्ष स्तर पर बदलाव करके सबको हैरान कर दिया है. पाकिस्तान की सेना ने खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई – ISI) के प्रमुख के ओहदे पर आसीन लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद (Lt. Gen. Faiz Hameed) को हटा दिया है. उनकी जगह जनरल नदीम अंजुम को आईएसआई का नया डायरेक्टर जनरल बनाया गया है. नदीम अहमद पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख के ओहदे पर तैनात होने वाले 25वें सैनिक अधिकारी हैं.

उनके अलावा भी पाकिस्तान सेना में दो अधिकारियों के तबादले किये गए हैं. लेफ्टिनेंट जनरल मोहम्मद आमिर को गुजरांवाला कोर का कमांडर (Gujranwala Corps Commander) बनाया गया है जबकि लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर को क्वार्टर मास्टर जनरल ( quarter master general – QMG ) तैनात किया गया है. सय्यद असीम मुनीर अहमद शाह फैज़ हमीद से पहले आईएसआई के डायरेक्टर जनरल रहे हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल नदीम अहमद अंजुम 6 अक्टूबर 2021 को आईएसआई का प्रमुख बनाये जाने से पहले पाकिस्तान सेना की 5 वीं कोर ( कराची कोर ) के कमांडर थे . कराची में उनकी तैनाती पिछले साल ही दिसम्बर में हुई थी. इससे पहले नदीम अंजुम बलूचिस्तान ( उत्तर ) स्थित फ्रंटियर कोर ( frontier corps) के इंस्पेक्टर जनरल रहे हैं. वे पाकिस्तान सेना पंजाब रेजिमेंट से ताल्लुक रखते हैं .

आईएसआई
लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर.

लेफ्टिनेंट जनरल फैज़ हमीद :

एसआई के प्रमुख ( isi chief) के पद से हटाए गये लेफ्टिनेंट जनरल फैज़ हमीद को पाकिस्तान सेना की 11 कोर ( XI Corps ) का कमांडर नियुक्त कर पेशावर भेजा गया है. जून 2019 में आईएसआई के 24 वें प्रमुख बनाये जाने से पहले फैज़ हमीद वे रावलपिंडी में पाकिस्तान सेना के जनरल हेड क्वाटर्स में एड्जूटेंट जनरल थे. आईएसआई में इस बार उनका ये दूसरा कार्यकाल था. फैज़ हमीद आईएसआई के काउंटर इंटेलिजेंस विंग ( counter intelligence wing ) के प्रमुख भी रहे थे. आईएसआई में इतना अनुभवी होने के बावजूद फैज़ हमीद को साल भर से पहले ही आईएसआई चीफ के ओहदे से रुखसत किया जाना स्वाभाविक तौर पर हैरानी वाला कदम माना जाएगा.

पाकिस्तान के पंजाब सूबे के चकवाल ज़िले के रहने वाले पाकिस्तानी सैन्य अधिकारी फैज़ हमीद का लतीफल गांव है. वहां उनके भाई सरदार नजफ़ हमीद राजस्व अधिकारी हैं और पटवारी के ओहदे पर हैं .

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख की नियुक्ति पाकिस्तान के प्रधानमंत्री करते हैं, लेकिन एक परंपरा के तहत वह पाकिस्तान के सेना प्रमुख (Pakistan Army Chief) के परामर्श से इस शक्ति का इस्तेमाल करते हैं. सुरक्षा , शासन ही नहीं , देश की अंदरूनी राजनीति के हिसाब से भी आईएसआई प्रमुख का पद पाकिस्तानी सेना में सबसे अहम पदों में से एक माना जाता है. पाकिस्तान में एजेंसी की बात खूब मानी जाती है क्यूंकि सुरक्षा ही नहीं , विदेश नीति से जुड़े फैसलों पर भी इसका असर दिखाई देता है.

आईएसआई पर भारत समेत अन्य देशों में भी आतंकी हमले कराने के आरोप भी लगते हैं. अफगानिस्तान की भी पूर्व सरकार ने आईएसआई पर तालिबान का सहयोग देने का आरोप लगाया था.