जब रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे पहुंचे NCC के रिपब्लिक डे कैम्प

709
रक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष भामरे को गार्ड आफ आनर दिया गया.

भारत के रक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष भामरे ने दिल्ली छावनी के करियप्पा परेड ग्राउंड में राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी-NCC) के गणतंत्र दिवस शिविर (आरडीसी) का दौरा किया. डॉ. भामरे ने एनसीसी कैडेट्स को संबोधित करते हुए कहा, “एनसीसी ने देश के युवाओं को अनुशासन, चरित्र, साहस की भावना और उनमें नि:स्वार्थ सेवा के आदर्शों को विकसित करने और इस तरह उन्हें जिम्मेदार नागरिकों के रूप में ढालने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.”

NCC
डॉ. भामरे ने एनसीसी कैडेट्स के तैयार फ्लैग एरिया का भी दौरा किया.

रक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष भामरे ने कैडेट्स की सराहना की और कहा, “एनसीसी ने हमारे युवाओं में साहस की भावना को बढ़ाने में लगातार महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. एनसीसी के पुरुष और महिला कैडेटों ने नौकायन अभियान, पैरा बेसिक कोर्स और रॉक क्लाइम्बिंग गतिविधियों में हिस्सा लेने के अलावा माउंट सैफी और माउंट डीओ टिब्बा की चढ़ाई भी सफलतापूर्वक पूरी की.”

सेना, नौसेना और वायु सेना, तीनों अंगों की टुकड़ी ने रक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष भामरे के आगमन पर प्रभावशाली “सलामी गारद” प्रदान की . इसके बाद एनसीसी कैडेट्स बैंड ने प्रदर्शन किया और मधुर धुनें बजाईं. डॉ. भामरे ने एनसीसी कैडेट्स के तैयार फ्लैग एरिया का भी दौरा किया, जिसमें विभिन्न सामाजिक जागरूकता विषय वस्तुओं और सांस्कृतिक गतिविधियों का चित्रण किया गया था.

राष्ट्रीय एकीकरण और विकास के नज़रिये से कैडेटों ने अपने संबंधित राज्य निदेशालय विषयों के बारे में रक्षा राज्य मंत्री को विस्तार से बताया. बहुमुखी प्रतिभा से संपन्न कैडेट्स ने एनसीसी सभागार में एक शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया, जिसमें समूह नृत्य और बैले शामिल थे, जो भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को प्रदर्शित करते हैं.

डॉ. भामरे ने स्मार्ट ड्रिल के लिए कैडेटों की सराहना की और ‘ग्रूम फ्यूचर लीडर्स’के लिए एनसीसी की प्रतिबद्धता की सराहना की. एनसीसी के प्रति व्यापक आकर्षण और संपूर्ण भारत में उनकी उपस्थिति पर प्रकाश डालते हुए, उन्होंने युवा सशक्तिकरण और राष्ट्र निर्माण में उनके महत्वपूर्ण योगदान की सराहना की.

रक्षा राज्य मंत्री डा भामरे के आगमन पर एनसीसी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल पी.पी. मल्होत्रा ने उनकी आगवानी की. आरडी कैंप में 2,070 कैडेट हैं जिनमें 29 राज्यों और सात संघ राज्य क्षेत्रों से आये 698 बालिका कैडेट्स भी हैं. कैम्प का समापन 28 जनवरी, 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली के साथ होगा.