तीनों सेवाओं के अधिकारियों के लिए भारतीय रक्षा विश्वविद्यालय कार्यशाला

762
भारतीय रक्षा विश्वविद्यालय
भारतीय रक्षा विश्वविद्यालय (IDU)द्वारा नई दिल्ली में ‘सेवा निरंतरता पर विचार’विषय पर आयोजित दो दिन की वर्कशॉप में तीनों सेवाओं यानि आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के वरिष्ठ और मध्यम स्तर के अधिकारियों ने भाग लिया.

भारतीय रक्षा विश्वविद्यालय ने तीनों सेवाओं यानि आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के वरिष्ठ और मध्यम स्तर के अधिकारियों के लिए आज नई दिल्ली में ‘सेवा निरंतरता पर विचार’ के विषय पर दो दिन की वर्कशॉप शुरू की जिसमें तीन बिन्दुओं पर विचार किया जाएगा – तीनों संगठनों और उनकी ईको-प्रणाली में निरंतरता प्राप्त करने की प्रक्रिया और प्रणाली को मजबूत बनाया जाए, निरंतरता की चुनौतियों का हल निकाला जाए और रक्षा सेवा संगठनों में निरंतरता बनाए रखने के लिए नए कार्यक्रमों और पहलों में सुधार करने की रणनीति तैयार की जाए.

रक्षा मंत्रालय की एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक़ भारतीय रक्षा विश्वविद्यालय की दो दिवसीय इस वर्कशॉप के दौरान अपने-अपने विषयों के विशेषज्ञ चर्चा करेंगे. इस दौरान आर्थिक, अंदरूनी और बाहरी घटकों जैसे विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाएगा. भारतीय रक्षा विश्वविद्यालय की कार्यशाला में तीनों सेवाओं के मुख्यालयों और प्रशिक्षण संस्थानों में नीति निर्माण में संलग्न 80 अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं.

कार्यशाला की शुरूआत में एकीकृत रक्षा मुख्यालय के उपप्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल पीजेएस पन्नू ने स्वागत वक्तव्य दिया जबकि उसके बाद एकीकृत रक्षा मुख्यालय के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल पीएस राजेश्वर ने मुख्य वक्तव्य दिया. ये वर्कशॉप इस तरह के आयोजनों की कड़ी में तीसरा कार्यक्रम है.