रक्षामंत्री ने जम्मू – कश्मीर और लदाख में एनसीसी की 4 इकाइयां बढ़ाना मंज़ूर किया

16
एनसीसी कैडेट्स की परेड
केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू – कश्मीर और लदाख में राष्ट्रीय कैडेट कोर (national cadet corps ) यानि एनसीसी  की चार अतिरिक्त  इकाइयां बढ़ाई जाएंगी. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज इससे संबंधित प्रस्ताव को मंज़ूरी दे दी है . रक्षा मंत्रालय की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में बताया गया है कि इस अनुमोदन में उधमपुर (जम्मू-कश्मीर), कुपवाड़ा (जम्मू-कश्मीर) और कारगिल (लदाख ) में एक-एक मिश्रित (लड़के और लड़कियां) सेना बटालियन और उधमपुर (जम्मू-कश्मीर) में एक एयर स्क्वाड्रन का गठन  शामिल है.

इन इकाइयों के बनने से , जम्मू और कश्मीर तथा लदाख  में एनसीसी के मौजूदा 27,870 कैडेटों की संख्या में 12,860 कैडेटों का इजाफा हो जाएगा.  इस हिसाब से यह  46.1 प्रतिशत की वृद्धि होगी  जाएगी.  वर्तमान में, एनसीसी निदेशालय के पास दो ग्रुप हेडक्वार्टर हैं, जिनमें कुल 10 एनसीसी इकाइयां हैं . यह सभी तीन भौगोलिक क्षेत्रों को कवर करती हैं.

बयान में उम्मीद ज़ाहिर की गई है कि एनसीसी के  इस विस्तार से क्षेत्र के युवाओं का मनोबल बढ़ेगा, जो राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान करेंगे. राष्ट्रीय कैडेट कोर ( एनसीसी )  भारतीय सैन्य कैडेट कोर है जिसकी स्थापना 1948 में हुई थी . राजधानी दिल्ली में एनसीसी का मुख्यालय है . एनसीसी स्वैच्छिक आधार पर स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए बनाया गया संगठन है. इसके कैडेट्स सेना के तीनों अंगों थल  सेना, नौसेना और वायु सेना से सम्बद्ध होते हैं.

 एनसीसी के कोर्स करने वालों को सेना में भर्ती के दौरान अतिरिक्त अंकों का लाभ भी मिलता है. वैसे एनसीसी विद्यार्थियों में अनुशासन और देशभक्ति की भावना का अतिरिक्त संचार करने वाला प्रतिष्ठित संगठन है.