हृदय रोगी पुलिसकर्मियों की खोज के लिए पश्चिम दिल्ली में कैम्प

451
हृदय रोग
जांच कराता दिल्ली पुलिसकर्मी (फाइल फोटो)

महानगरीय पुलिस के काम में दबाव और तनाव को ध्यान में रखते हुए, पुलिसकर्मियों को हृदय रोग से बचाव और उसके निदान के लिए दिल्ली में चार पुलिस परिसरों में नि:शुल्क जांच शिविर लगाये जायेंगे. पश्चिमी दिल्ली में इसकी शुरुआत जनकपुरी स्थित पुलिस उपायुक्त (DCP) कार्यालय से होगी. जिन पुलिस कर्मियों की सेहत में गड़बड़ी पाई जायेगी, उन्हें सेहत में सुधार करने के अवसर, इलाज और सुविधा मुहैया कराई जायेगी.

पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य जांचने के लिए ऐसा पहला कैम्प 10 जनवरी को जनकपुरी डीसीपी आफिस कॉम्प्लेक्स में आयोजित होगा. शिविर आयोजित करने वाले कालरा अस्पताल के वरिष्ठ वाइस प्रेसिडेंट संजॉय भट्टाचार्य के मुताबिक़ शिविर सुबह 10.30 बजे से दोपहर 3.00 तक चलेगा. पश्चिमी ज़िला पुलिस के अतिरिक्त उपायुक्त सिकंदर सिंह की तरफ से दिये गये निर्देश के मुताबिक़ 11 जनवरी को राजौरी गार्डन थाने, 12 जनवरी को पंजाबी बाग़ थाने में, 15 जनवरी को तिलक नगर और 16 जनवरी को नारायणा थाने में पुलिसकर्मी स्वास्थ्य जांच करवा सकते हैं.

श्री भट्टाचार्य के मुताबिक़ पश्चिम दिल्ली की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने उनसे जांच के बाद उन तमाम मामलों का विवरण उपलब्ध करने को कहा है जो पोज़िटिव पाये जायेंगे ताकि ऐसे पुलिसकर्मियों के बारे में पुलिस आयुक्त को रिपोर्ट भेजकर उनकी समुचित चिकित्सा सहायता का इंतज़ाम किया जा सके. एक अंदाज़ के मुताबिक़ प्रत्येक शिविर में लगभग 400 पुलिसकर्मियों की हृदय सम्बन्धी जांच होगी और इसी हिसाब से विशेषज्ञ डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ तैनात किया जायेगा.