लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू भारतीय थल सेना के नए उप प्रमुख नियुक्त

21
लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू
लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू

लेफ्टिनेंट जनरल बग्गावल्ली सोमशेखर राजू 1 मई, 2022 को भारतीय थल सेना के उप प्रमुख का कार्यभार ग्रहण करेंगे. लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ( b s raju ) बीजापुर के सैनिक स्कूल और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (nda ) के छात्र रहे हैं. उन्होंने 15 दिसंबर, 1984 को जाट रेजिमेंट में कमीशन हासिल किया था. अभी तक मिलिटरी ऑपरेशन महानिदेशक के पद पर ज़िम्मेदारी संभाल रहे जनरल राजू मार्च 2021 तक श्रीनगर में चिनार कोर के जीओसी थे.

लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू हेलिकॉप्टर पायलट हैं . पश्चिमी युद्ध क्षेत्र और जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान उन्होंने अपनी बटालियन की जिम्मेदारी संभाली है. उन्हें नियंत्रण रेखा के पास स्थित आतंकवाद रोधी बल – उरी ब्रिगेड को भी उन्होंने कमान किया है. इसके अलावा लेफ्टिनेंट जनरल राजू ने भूटान में भारतीय सैन्य प्रशिक्षण दल के कमांडेंट के रूप में भी काम किया है.

एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक़ उनके 38 साल के करियर के दौरान सेना मुख्यालय में कई महत्वपूर्ण रेजिमेंट, स्टाफ और निर्देशात्मक नियुक्तियां की गईं. वहीं, क्षेत्र संरचना में सैन्य सचिव शाखा में कर्नल सैन्य सचिव कानूनी, सक्रिय रूप से परिचालित व्हाइट नाइट कोर के ब्रिगेडियर जनरल स्टाफ, सामान्य सैन्य अभियान के उप निदेशक और डायरेक्टर जनरल (स्टाफ ड्यूटी ) के रूप में भी जनरल राजू अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

जनरल ऑफिसर एक योग्य हेलीकॉप्टर पायलट है, जिन्होंने यूएनओएसओएम II तहत सोमालिया में उड़ान का परिचालन किया है. इसके अलावा लेफ्टिनेंट जनरल बी एस राजू जाट रेजीमेंट के कर्नल भी रहे हैं. लेफ्टिनेंट जनरल राजू ने भारत में सभी महत्वपूर्ण करियर पाठ्यक्रमों में हिस्सा लिया है और उन्हें ब्रिटेन स्थित रॉयल कॉलेज ऑफ डिफेंस स्टडीज में एनडीसी करने का विशेष अवसर भी प्राप्त हुआ है. इसके अलावा उन्होंने अमेरिका के मॉन्टेरी स्थित नेवल पोस्टग्रेजुएट स्कूल ( naval postgraduate school ) में आतंकवाद-रोधी विषय में एक विशिष्ट मास्टर प्रोग्राम की डिग्री भी प्राप्त की है.

लेफ्टिनेंट जनरल राजू को सेना की सेवा में उनके शानदार योगदान के लिए उत्तम युद्ध सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक और युद्ध सेवा पदक से सम्मानित किया गया है.