लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे भारतीय सेना के अगले प्रमुख, सीडीएस को लेकर अभी घोषणा नहीं

38
लेफ्टिनेंट जनरल मनोज चंद्रशेखर पांडे
लेफ्टिनेंट जनरल मनोज चंद्रशेखर पांडे.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज चंद्रशेखर पांडे भारतीय सेना के अगले प्रमुख होंगे. लेफ्टिनेंट जनरल पांडे इसी महीने के आखिर में रिटायर हो रहे जनरल मनोज मुकुंद नरवणे से सेनाध्यक्ष की कमान संभालेंगे. जनरल पांडे वर्तमान में भारतीय सेना के उप प्रमुख हैं. भारतीय सेना के चीफ का ओहदा संभालने वाले वे पहले इंजीनियर भी होंगे. लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे भारत के 29 वें सेनाध्यक्ष होंगे. इस बीच अभी ये स्पष्ट नहीं है कि भारत के चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ के भी कुछ काम देख रहे वर्तमान सेनाध्यक्ष को सेवा विस्तार देकर पूर्णकालिक सीडीएस बनाया जाएगा या नहीं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे वर्तमान सेनाध्यक्ष के बाद सेना में सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं. नेशनल डिफेन्स अकेडमी के छात्र रहे जनरल पांडे ने दिसंबर 1982 में बॉम्बे सैपर्स में कमीशन हासिल किया था. थल सेना का उप प्रमुख बनाए जाने से पहले लेफ्टिनेंट जनरल पांडे सेना की पूर्वी कमान की कमान संभाल रहे थे जो सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश सेक्टर में, भारत -चीन के बीच, वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी- lac ) की निगहबानी करती है. उससे पहले जनरल पांडे जून 2020 से मई 2021 अंडमान और निकोबार कमान के कमांडर-इन-चीफ थे. विशिष्ट सेवा मेडल, अति विशिष्ट सेवा मेडल और विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित जनरल पांडे को चीफ ऑफ़ आर्मी स्टाफ और जीओसी इन चीफ का प्रशस्ति पत्र भी मिला हुआ है.

सेना की इंजीनियरिंग कोर के मनोज पांडे ने संसद भवन पर 2001 में आतंकवादियों के हमले के बाद जम्मू कश्मीर ऑपरेशन पराक्रम के दौरान पल्लनवाला में इंजीनियर रेजिमेंट की कमान संभाली थी. करगिल युद्ध के दो साल बाद का ही ये वो वक्त था जब भारत और पाकिस्तान के बीच फिर से तनाव तथा जंग के हालात पैदा हो गए थे.

6 मई 1962 को जन्मे जनरल पांडे मूल रूप से महाराष्ट्र के नागपुर के रहने वाले हैं. उनको इसी साल 1 फरवरी को सेना का उप प्रमुख बनाया गया था. अगले महीने ही वे 60 साल के भी हो जाएंगे.

उधर जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को सेवा विस्तार देकर अगला सीडीएस बनाए जाने की सम्भावना है. वैसे सेनाध्यक्ष के ओहदे से जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को 30 अप्रैल 2022 को रिटायर होना है.