लखनऊ में 1368 पुलिसकर्मी दमखम दिखाएंगे, 450 से ज्यादा महिलाएं होंगी

77
पुलिस एथलेटिक्स
आल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स मीट की जानकारी देते सशस्त्र सीमा पुलिस बल के महानिरीक्षक रत्न संजय.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अखिल भारतीय पुलिस एथलेटिक्स मुकाबलों की शुरुआत 21 मार्च से होगी. भारत के विभिन्न पुलिस बलों के जवान इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेते है. इस बार आल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स मीट (all india police athletics meet) का आयोजन सशस्त्र सीमा पुलिस बल (एसएसबी) कर रहा है.

ये 71 वीं चैम्पियनशिप है और इसका आयोजन 21 से 25 मार्च तक लखनऊ महानगर स्थित पीएसी की 35वीं बटालियन में होगा. उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे और समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर अशोक कुमार उपस्थित होंगे. अशोक कुमार हॉकी के जादूगर मेजर ध्यान चंद के बेटे हैं.

एसएसबी के सीमांत मुख्यालय गोमती नगर में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान महानिरीक्षक (आईजी) रत्न संजय ने ये जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 71वीं अखिल भारतीय पुलिस एथलीट क्लस्टर चैंपियनशिप 21 मार्च से 25 मार्च तक लखनऊ में साई स्टेडियम और किसान पथ लखनऊ में संपन्न कराई जाएगी. किसान पथ पर साइक्लिंग के इवेंट होंगे. लखनऊ शहर में लगभग 10 साल बाद ये आयोजन हो रहा है.

सशस्त्र सीमा बल ( ssb ) उत्तराखंड से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक फैली भारत-नेपाल व भारत-भूटान सीमा पर तैनात है. नेपाल और भूटान सीमा की सुरक्षा के अतिरिक्त एसएसबी युवाओं और छात्रों के लिए समय-समय पर विभिन्न सामाजिक कार्यो में अपनी सेवाएं दे रहा है.

केन्द्रीय और राज्यों की पुलिस की 33 टीमें का मुकाबला ;

आईजी रत्न संजय ने बताया कि इस चैंपियनशिप का ख़ास मकसद 2028 में होने वाले ओलंपिक में भारत का प्रदर्शन उच्च करना है. 21 से 25 मार्च को होने वाली इस प्रतियोगिता में देशभर से केंद्रीय पुलिस बल, राज्य पुलिस बल और केंद्र शासित प्रदेशों की कुल 33 टीमों के 1368 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे. इनमें लगभग 900 पुरुष एवं 450 से ज्यादा महिलाएं हैं. प्रतियोगिता के दौरान देशभक्ति एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे जिनमें बिहु, मराठी नृत्य, पंजाबी- नृत्य और अवधी जैसे क्षेत्रीय कार्यक्रम शामिल है. इन दिनों में एसएसबी के जॉज और ब्रास बैंड लखनऊ के ऐतिहासिक स्थलों पर मनमोहक प्रस्तुतियों पेश करते हुए अखिल भारतीय पुलिस एथलेटिक्स कलस्टर का प्रचार एवं प्रसार करेंगे.