रक्षा बलों के लिए यूएवी बनाने पर एमओयू

394
मानवरहित हवाई यान
मानवरहित हवाई यान (यूएवी)-फ़ोटो-Wikipedia

चेन्नई/हैदराबाद. हैदराबाद की कंपनी साइन्ट और इजरायल की कंपनी ब्लूबर्ड एरो सिस्टम्स ने भारतीय सेना, अर्धसैनिक बलों, सुरक्षा बलों और पुलिस बलों के लिए फील्ड-प्रूवेन मानवरहित हवाई यान (यूएवी) प्रणाली के निर्माण के लिए एक संयुक्त उद्यम स्थापित करने को लेकर समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए. बुधवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि संयुक्त उद्यम का नाम साइन्ट सोल्यूशंस एंड सिस्टम्स प्रा. लि. होगा, जिसमें 51 फीसदी हिस्सेदारी साइन्ट की होगी तथा 49 फीसदी हिस्सेदारी ब्लूबर्ड की होगी.

साइन्ट और ब्लूबर्ड ने चेन्नई में चल रहे डिफेंस एक्सो 2018 के दौरान इस संयुक्त उद्यम के समझौते पर हस्ताक्षर किए. दोनों कंपनियों द्वारा जारी संयुक्त बयान में कहा गया है कि साइन्ट सोल्यूशंस एंड सिस्टम्स, ब्लूबर्ड की प्रौद्योगिकी और विनिर्माण विशेषज्ञताओं का लाभ उठाकर हैदराबाद स्थित संयंत्र में उन्नत यूएवी प्रणालियों का स्वदेशीकरण विनिर्माण, एसेंबलिंग, एकीकरण और परीक्षण करेगी.

साइन्ट सोल्यूशंस और सिस्टम्स ने हाल ही में भारत में स्पाइलाइट का वास्तविक स्थितियों में सफलतापूर्वक परीक्षण किया था, जिसे अत्यंत खराब मौसम में भी सामरिक निगरानी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

साइन्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक कृष्णा बोदानापु ने कहा, “संयुक्त उद्यम दोनों भागीदारों की सरकार की मेक इन इंडिया पहल के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है.”