चीन सीमा पर 6 फुट बर्फ में दबे मिले मेजर निशीत डोगरा ने प्राण त्यागे

275
मेजर निशीत डोगरा
मेजर निशीत डोगरा की फाइल फोटो

चीन सीमा के पास सिक्किम में तैनात भारतीय सेना के मेजर निशीत डोगरा की बर्फीले तूफ़ान की चपेट में आने से मौत हो गई. मेजर निशीत उत्तरी सिक्किम के छारतेन गांव से करीब 40 किमी दूर पैगोंग की तरफ तैनात थे वहां अचानक तेज़ हवाओं के साथ भीषण बर्फबारी हुई थी.

इस बीच मेजर निशीत के पिता उमेश चंदर ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वहां सैनिकों के रहने के हालात सुधारने की गुज़ारिश की है. निशीत नोएडा के रहने वाले थे. रविवार को गंगटोक स्थित सदर अस्पताल में उनका पोस्टमार्टम किया गया. शहीद मेजर डोगरा का शव उनके नोएडा स्थित पैतृक आवास पर भेज दिया गया है.

मेजर निशीत डोगरा
मेजर निशीत डोगरा अपनी पत्नी निकिता के साथ (स्रोत : फेसबुक)

सेना के सूत्रों के मुताबिक़ शनिवार को तूफ़ान के बाद मेजर निशीत लापता पाए गये थे. इसके बाद उनकी तलाश के लिए सघन अभियान छेड़ा गया था और रात दस बजे के आसपास मेजर निशीत पांच छह फुट नीचे बर्फ में दबे मिले थे. उन्हें तुरंत वहां से निकालकर प्राथमिक चिकित्सा मुहैया कराई गई लेकिन आधी रात को उन्होंने प्राण त्याग दिए.

मेजर निशीत डोगरा 7 कैवलरी में थे और सिक्किम के जोंगरी में तैनात थे. उनके पिता उमेश चंदर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सम्बोधित ट्वीट संदेश में वहां के खराब हालात का हवाला देते हुए कहा है कि वहां लगभग एक हफ्ते से बिजली तक नहीं थी और न ही वहां जनरेटर था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here