DefExpo2020 : भारत में अत्याधुनिक रॉकेट मोटरों को तैयार और विकसित करने की तैयारी

31
बाएं से दाएं : अतुल राणे, इवान शालेव, केपीएस मूर्ति, इवान कनिष्‍चेव, एलेक्‍जेंडर ए. मिकहीव, डा. जी सतीश रेड्डी.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रक्षा प्रदर्शनी डेफएक्सपो 2020 (DefExpo2020) के दौरान, पुणे स्थित एचईएमआरएल (High Energy Materials Research Laboratory) ने अत्याधुनिक पायरोटेक्नीक ज्वलन प्रणाली विकसित करने के लिए रूस के रोसोबोरोन एक्सपोर्ट के साथ तकनीकी विकास समझौते पर दस्तखत किए हैं.

एचईएमआरएल के निदेशक केपीएस मूर्ति ने बताया कि इससे शक्तिशाली सामग्री और पायरोटेक्नीक टेक्नोलाजी के क्षेत्र में प्रगति हो सकेगी जिससे अत्याधुनिक ज्वलन प्रणाली विकसित (Advanced Pyrotechnic Ignition Systems – APIS) होगी. यह उच्च प्रदर्शन वाली प्रोपल्शन प्रणालियों की भविष्य की जरूरतों को पूरा करेगा. उन्होंने बताया कि प्रोपल्शन प्रणालियां रॉकेटों और मिसाइलों की ताकत हैं.

रक्षा मंत्रालय की एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक़ इस टेक्नोलॉजी के विकास से आगामी उत्पादों के लिए अत्याधुनिक रॉकेट मोटरों को तैयार और विकसित किया जा सकेगा. ये उत्पाद सुसम्बद्ध और ऊर्जा दक्ष प्रोपल्शन प्रणालियों पर आधारित होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here