भारतीय सेना के जवानों ने यूं एक बेजुबान की मदद कर उसे बचाया

311
सेना
भारतीय सेना की चिनार कोर के पशु चिकित्सा दस्ते ने इस घोड़े को शुरूआती चिकित्सा दी.

भारतीय थल सेना के जवानों ने दर्द से तड़प रहे एक घायल घोड़े की मदद उस वक्त की जब कश्मीर में बर्फीले सर्द मौसम में बिना इलाज के पड़ा हुआ था. ये घोड़ा दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में सड़क किनारे पेड़ों के पास पड़ा था.

सेना
भारतीय सेना की चिनार कोर के पशु चिकित्सा दस्ते ने इस घोड़े को शुरूआती चिकित्सा दी.
सेना
भारतीय सेना की चिनार कोर के पशु चिकित्सा दस्ते ने इस घोड़े को शुरूआती चिकित्सा दी.
सेना
भारतीय सेना की चिनार कोर के पशु चिकित्सा दस्ते ने इस घोड़े को शुरूआती चिकित्सा दी.

कश्मीर के बहुत बड़े हिस्से की सुरक्षा सम्भाल रही भारतीय सेना की चिनार कोर (15 corps) के पशु चिकित्सा दस्ते ने इस घोड़े को पहले बिजबहेड़ा में उसी जगह पर शुरूआती चिकित्सा दी. फिर इसे स्थानीय नागरिक प्रशासन की तरफ से उपलब्ध कराई गई हॉर्स एम्बुलेंस (horse ambulance ) के ज़रिये हैफ्ट चिनार (haft chinar) स्थित (advance veterinary hospital) पहुंचाया.