वायुसेना के सार्जेंट गुरुराजा ने खोला भारत का खाता, जीता रजत

309
सार्जेंट गुरुराजा
भारतीय वायुसेना के सार्जेंट गुरुराजा ने चांदी फतह की

गोल्ड कोस्ट (आस्ट्रेलिया). भारतीय वायुसेना के सार्जेंट गुरुराजा ने गुरुवार को 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के पहले दिन रजत पदक जीतकर भारत का खाता खोल दिया. भारोत्तोलन प्रतियोगिता में मिले पदकों के कारण 21वें राष्ट्रमंडल खेलों की पदक तालिका में अपना स्थान बना लिया है. महिला भारोत्तोलक एस. मीराबाई चानू ने जहां 48 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक जीता, वहीं एयर वारियर सार्जेंट गुरुराजा ने पुरुषों के 56 किलोवर्ग का रजत पदक अपने नाम किया. भारतीय वायुसेना ने सार्जेंट गुरुराजा को इस सफलता के लिये बधाई दी है.

स्टार भारतीय महिला भारोत्तोलक चानू ने सभी की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए 48 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया. मणिपुर की चानू ने इस स्पर्धा में शानदार प्रदर्शन किया और अपने प्रतिद्वंद्वियों को आस-पास भी नहीं भटकने दिया. चानू ने एक साथ राष्ट्रमंडल खेलों का रिकार्ड और गेम रिकार्ड अपने नाम किए.

गुरुराजा ने 56 किलोवर्ग के स्नैच में 111 का स्कोर किया तो वहीं क्लीन एंड जर्क में 138 का स्कोर किया. उन्होंने कुल 249 का स्कोर करते हुए पदक अपने नाम किया. इस स्पर्धा का स्वर्ण मलेशिया के मुहामेद इजहार अहमद हाजालवा के नाम रहा. उन्होंने कुल 261 का स्कोर किया. उन्होंने स्नैच में 117 का स्कोर किया जो एक नया गेम रिकार्ड है. इस मामले में उन्होंने नई दिल्ली में 2010 में खेले गए राष्ट्रमंडल खेलों में अपने हमवतन इब्राहिम द्वारा स्थापित किए रिकार्ड को ध्वस्त किया.

गुरुराजा ने अच्छी शुरूआत की और पहले प्रयास में ही बढ़त ले ली. उन्होंने स्नैच में पहला प्रयास 107 किलोग्राम के किया जो सफल रहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here