भारतीय सेना भी फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस समारोह में छा जाने की तैयारी में

28
थल सेना के ऐडजुडेंट जनरल लेफ्टिनेंट जनरल सी . बंसी पोनप्पा ने फ़्रांस जाने वाली संयुक्त सेनाओं की टुकड़ी का नेतृत्व करने वाले अधिकारियों से मुलाक़ात की

फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस समारोह में भारतीय सेनाएं  भी जोरशोर से हिस्सा ले रही है. इस  अवसर पर होने वाली परेड में  भारत की तीनों सेनाओं – थल सेना , नौसेना और वायु सेना की एक संयुक्त टुकड़ी मार्च पास्ट में हिस्सा लेगी. इस टुकड़ी के रवाना होने से एक दिन पहले बुधवार को  थल सेना के ऐडजुडेंट जनरल (  adjutant general) लेफ्टिनेंट जनरल  सी . बंसी पोनप्पा ने टुकड़ी के सदस्यों से मुलाक़ात की और शुभकामनाएं दीं. फ्रांस हर साल 14 जुलाई को राष्ट्रीय दिवस मनाता है. इसे बेस्टिल डे ( बैस्टिल दिवस ) भी कहा जाता है .

इस बार फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस समारोह ( national day) में भारतीय सैनिकों का मार्चिंग दस्ता तो शामिल होगा ही , रफेल लड़ाकू विमान भी आसमान में उड़ान भरकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे. ये फाइटर मार्च पास्ट में हिस्सा लेंगे . वैसे भारत ने  रफेल लड़ाकू फ्रांसीसी कम्पनी द्साल्ट से ही लिए  हैं . फ्रांस अब तक 36 रफेल भारत को दे चुका है.

फ़्रांस के राष्टीय दिवस समारोह में हिस्सा लेने वाला भारतीय सेनाओं का संयुक्त दस्ता .

भारत के सन्दर्भ में फ्रांस के इस राष्ट्रीय दिवस समारोह की इस बार कुछ ख़ास बात भी है. दरअसल भारत और फ़्रांस के बीच उस सामरिक साझेदारी के 25 साल भी हो गए हैं जो 26 जनवरी 1998 को राष्ट्रपति शिराक के भारत आगमन पर शुरू हुई थी . विकसित होते इन्हीं रिश्तों फ्रांस ने अहमियत देते हुए फ्रांस ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( pm modi )  को राष्ट्रीय दिवस समारोह में गेस्ट ऑफ़ ऑनर ( guest of honor ) के तौर पर आमंत्रित किया है .

माना जा रहा है कि फ़्रांस के साथ इस अवसर पर भारत  कुछ और समझौतों पर भी दस्तखत करेगा . इनमें सामरिक महत्व के करार के अलावा पर्यावरणीय परिवर्तन या कुछ विषयों पर साथ साथ काम करने  को लेकर भी द्विपक्षीय समझौते हो सकते हैं .