एमएनएस में तैनात उत्तराखंड की दो बहनों को मिला राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल अवार्ड

111

भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू  ने सैन्य नर्सिंग सेवा ( Military Nursing Service) की अपर महानिदेशक  (एडीजी) मेजर जनरल स्मिता देवरानी और दक्षिणी कमान मुख्यालय ब्रिगेडियर एमएनएस, ब्रिगेडियर अमिता देवरानी को क्रमशः वर्ष 2022 एवं 2023 के लिए राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल अवार्ड  (national florence nightingale award ) से सम्मानित किया है. ये दोनों अधिकारी बहने हैं और उत्तरखंड के कोटद्वार ज़िले की रहने वाली हैं

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा 1973 में स्थापित राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्कार, नर्सों और नर्सिंग प्रोफेशनल्स को समाज को प्रदान की गई उनकी सराहनीय सेवाओं के सम्मान के तौर  दिया जाता है.  देवरानी बहनों को दिया गया अवार्ड  उनके लगभग चार दशकों के उल्लेखनीय योगदान और सेवा के लिए एक उपयुक्त सम्मान है.

मेजर जनरल स्मिता देवरानी ने 1983 में एमएनएस में कमीशन हासिल किया  था . 1 अक्टूबर, 2021 को  ( एमएनएस mns ) की  अपर महानिदेशक   का कार्यभार संभालने से पहले , वह आर्मी हॉस्पिटल (रिसर्च एंड रेफरल) की प्रिंसिपल मैट्रन, ब्रिगेडियर एमएनएस, मुख्यालय (मध्य कमान); प्रिंसिपल मैट्रन, कमांड हॉस्पिटल (दक्षिणी कमांड) और निदेशक एमएनएस (प्रशासन) जैसी विभिन्न प्रमुख नैदानिक, कर्मचारी और प्रशासनिक पदों पर रहीं.

ब्रिगेडियर अमिता देवरानी को स्मिता के तीन साल बाद यानि 1986 में सेवा में कमीशन हासिल हुआ था .  उन्होंने 1 सितंबर, 2021 को दक्षिणी कमान के ब्रिगेडियर एमएनएस का अपना वर्तमान पदभार ग्रहण किया था. वह  इससे पहले  पुणे के सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज में   कॉलेज ऑफ नर्सिंग की प्रिंसिपल थीं .उन्होंने   आर्मी हॉस्पिटल, रिसर्च एंड रेफरल कॉलेज ऑफ नर्सिंग और इंडियन नेवल हॉस्पिटल शिप (आईएनएचएस) अश्विनी के कॉलेज ऑफ नर्सिंग की वाइस प्रिंसिपल जैसे विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है.