भारत के सैनिकों ने सिंगापुर सेना के संग मिलकर महाराष्ट्र में गोलाबारी की

38
अग्नि योद्धा
सिंगापुर एवं भारत के सैनिकों के बीच द्विपक्षीय युद्ध अभ्यास अग्नि योद्धा

सिंगापुर एवं भारत के सैनिकों ने मिलकर महाराष्ट्र में जमकर गोले दागे. उन्होंने युद्ध के कुछ हुनर और तौर तरीके के दूसरे से सीखे और सिखाए भी. ये मौका था दोनों देशों की सेना के बीच एक द्विपक्षीय अभ्यास अग्नि योद्धा के 12 वें संस्करण का 17 दिन चला. महाराष्ट्र के देवलाली की फील्ड रेंज में ये अभ्यास 13 नवंबर को शुरू हुआ था और 30 नवंबर, 2022 को संपन्न हुआ. अभ्यास अग्नि योद्धा के अंतर्गत दोनों देशों के सैन्य बलों ने संयुक्त रूप से फ़ायर पावर का प्रदर्शन एवं निष्पादन किया. इस अभ्यास में दोनों सेनाओं की आर्टिलरी शाखा द्वारा नई पीढ़ी के उपकरणों का उपयोग किया गया.

अग्नि योद्धा
सिंगापुर एवं भारत के सैनिकों के बीच द्विपक्षीय युद्ध अभ्यास अग्नि योद्धा

रक्षा मंत्रालय की एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक ‘अग्नि योद्धा’ अभ्यास में संयुक्त योजना बनाने के अंतर्गत संयुक्त रूप से कंप्यूटर वॉर गेम में दोनों पक्षों ने भागीदारी की. दोनों पक्षों ने संयुक्त प्रशिक्षण चरण के अंतर्गत आला प्रौद्योगिकी और आर्टिलरी ऑब्जर्वेशन सिम्युलेटर का उपयोग किया. आर्टिलरी में आधुनिक रुझानों और बेहतर आर्टिलरी योजना प्रक्रिया के विषय पर दोनों देशों के बीच विशेषज्ञ अकादमिक चर्चा आयोजित की गई. अभ्यास के आखिरी दौर के बीच स्वदेशी रूप से निर्मित आर्टिलरी गन और हॉवित्जर तोपों ने भी हिस्सा लिया.

विज्ञप्ति में कहा गया कि इस अभ्यास ने ड्रिल्स एवं प्रक्रियाओं की आपसी समझ बढ़ाने और दोनों सेनाओं के बीच पारस्परिकता बेहतर करने में योगदान किया है. समापन समारोह में भारत में सिंगापुर के उच्चायुक्त वोंग वाई कुएन और आर्टिलरी स्कूल के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल एस हरिमोहन अय्यर के साथ सिंगापुर के अन्य गणमान्य लोग तथा दोनों सेनाओं के अफसर भी मौजूद थे.